8/09/2007

Sania Mirza इतने कम कपडों में


अक्‍सर भारतीय खिलडि़यों पर विदेशी देखने का भूत सवार हो जाता है। किन्‍तु भारत के कठ्मुल्‍लाओं के फतवों के कारण सानिया का यह भी रूप देखने को मिलता है। और मुझे नही लगता है कि असलियत दिखाने की जरूरत होगी। आप तो वैसे भी सानिया को देखते ही रहते है। :)

10 comments:

संजय बेंगाणी said...

मूँह अभी बुर्के में नहीं है!!!! कठमुल्लाओं का ध्यान नहीं गया शायद.

mamta said...

आपके शीर्षक भी ना ... :)

अरुण said...

जे गलत बात है..? जो शो रूम मे हो दुकान मे वही माल मिलना चाहिये..:)

Anonymous said...

आज से सानिया इन ही कपडों में खेले गी.

Anonymous said...

Bahut hi badhiya photo..Ye kapde unhone kathmullon ke fatwe ki wajah se pahne honge, mujhe nahin lagta..

Shrish said...

जे गलत बात है भई, धोखे स‌े हमें यहाँ लेकर आए आप। अब इसका हर्जाना चुकाओ और शीर्षक के मुताबिक एक स‌ही फोटो दिखाओ।

Divine India said...

कपड़ों पर समय नष्ट न करों…
खेल पर भी ध्यान दो… :)

vishesh said...

भई हम भी शीर्षक के धोखे में यहां आ पहुंचे

मगर तय मानिऐ आपका शीर्षक बुरके में सानिया भी होता तो भी इतने ही हिट्स मिलते
शायद ज्यादा ही मिलते

Udan Tashtari said...

कहाँ से लाते हो यार यह मेटेरियल. :) बढ़िया है.

ACHAL said...

बस हिजाब की कमी है चेहरा ढकने के लिये