4/02/2009

बना कीर्तिमान समीर लाल जी शीर्ष पर, हम भी बने सात हजारी ब्‍लागर


कल नीरज भाई से बात चीत रही थी, उन्‍होने कहा कि उन्‍हे यह ब्‍लाग बहुत अच्‍छा लगता है। वैसे इस ब्‍लाग को पंसद करने भाईयों की कोई कमी नही है। आम तौर पर अविवाहित भइयों में प्रतीक भाई, श्रीश भाई (आजकल लुप्‍त है) अविवाहितो को छोडि़ये विवाहितों में भी पंकज भाई आदि प्रमुख है। अब कुछ न कुछ हमेशा नया लाता रहूँगा, बहुत ईमेल आती है पर शेयर कर पाना कठिन होता है, पर अब से किया करूँगा।

मुझे आज ही पता चला कि हम सात हजारी ब्‍लागर हो गये, अभी तक बहुत कम ही सात हजारी बलागर देखने को मिले है। आज समीर जी के ब्‍लाग टिप्‍पणियों में से सात हजारी ब्‍लागर खोजे तो कुछ मिल ही गये, जिनके नाम छूट गये हो भाई माफ करना।सर्वश्री Sanjeet Tripathi, संजय बेंगाणी, Udan Tashtari, ज्ञानदत्त पाण्डेय आदि प्रमुख हिन्दी ब्‍लागर है जिनके प्रोफाईल विजिटरों की संख्‍या 7000 या उपर रही।

45 वर्षीय चिर युवा समीर जी, लगातार चिरपर‍िचित अंदाज में बैंटिग कर रहे है। टेस्‍ट, वन्‍ड़े और टी-20 में शानदार बैटिंग कर रहे है और 31,415 प्रोफाईल विजिटरों के साथ शीर्ष पर है। मुझे नही लगता कि कोई भी समीर जी ने निकट पटक रहा होगा। 53 वर्षीय एक और युवा ब्‍लागर श्री ज्ञान जी भी 11,754 के साथ प्रमुख स्‍थान बनाए हुये है। 33 वर्षीय संजीत भाई भी 11 हजारी ब्‍लागर की लिस्‍ट में शामिल हो गये। गांगुली को भी आज अफशोस हो रहा होगा कि मै भी 36 का हूँ आज मै भी चिट्ठाकारी कर रहा होता हो मै यही कहीं होता। :) कह सकता हूँ, कि 45 -55 का चिर युवा होने पर हमारा प्रदर्शन और निखर कर समाने आयेगा।

हम भी विस्‍फोटक बल्‍लेबाज के रूप में जाने जाते थे, टेस्‍ट और वन्‍डे में हमारा कोई सानी नही था किन्‍तु जबसे टी-20 फॉर्मेट आया। हमारे जैसे 22 वर्षीय ब्‍लागरों की वॉट लग गई। पहले हम भी टीम के कप्‍तान हुआ करते थे किन्‍तु अब टीम(चिट्ठाकारी में) अस्तित्‍व की लड़ाई लड़ रहे है। खुशी हुई की करीब 3 साल में हमने भी कुछ गुल खिला ही लिये अन्‍यथा, दुनिया यही कहती- लिखा तो खूब, पर पढ़ा कोई नही। :)


शेष फिर

19 comments:

पंगेबाज said...

हम गिनती के चक्कर मे नही पडते . :) हम दुनिया मे सर्व श्रेष्ट महान इकलौते पंगेबाज है . सो हमारी स्थिती गिनती से निश्चित नही हो सकते . इस मामले मे हम आत्म निर्भर है और रहेगे :)

Anil said...

लो कल्लो बात! मैंने आज तक कभी देखने की चेष्टा ही नहीं की कि मेरे प्रोफाइल को कित्ते लोगों ने देखा! सात हजारी तो नहीं, लेकिन "हजारीलाल" तो मैं हूँ ही! :)

पंकज बेंगाणी said...

बधाई भाई प्रमेन्द्र.

मैं कहीं 6000-7000वें स्थान पर दिख जाऊँ तो सूचित करना.

Anil Pusadkar said...

गिनती-विनती हम भी नही जान्ते लेकिन आपको बधाई इसलिये दे रहे है कि हम भी आपकी पहली वाली केटेगरी यानी अविवाहित हैं।वैसे वो रिकार्डधारी संजीत हमारा छोटा भाई है। हा हा हा …………।बधाई हो आपको ,सात हज़ारी बनने की।ज़ल्द आप ब्लोग जगत के सचिन बने।

बवाल said...

वाह वाह महाशक्ति भाई साहब, बहुत बहुत बधाई हो सात हजारीलाल जी। और हमें भी आप अविवाहित की कैटेगरी में तो डाल ही तीन बटे चार। क्योंकि हमारी तो अभी एक ही बवालिन है। तीन और अलाउड हैं ना हमें तो । तो हुए ना हम तीन बटे चार अविवाहित ? हा हा हा।
और सुनिए हम मज़ाक नहीं कर रहे हैं हा हा हा।

अनिल कान्त : said...

दिलचस्प ...

रंजन said...

बधाई..

नीरज गोस्वामी said...

अरे प्रोफाईल पर भी नजर रखनी होती है...ये तो हमें पता ही नहीं था...कभी देखे ही नहीं...अंक गणित में फिस्सडी जो रहे सदा से...आपको सात हजारी समूह में आने पर बधाई...समीर जी तो ब्लॉग सरताज है...उनकी क्या बात है...
नीरज

संजय बेंगाणी said...

बधाई

परमजीत बाली said...

बधाई।

Udan Tashtari said...

अरे वाह वाह!! बहुत बहुत बधाई-हजारी तो हो ही गये हो-जल्दी ही लखिया बनोगे-बहुत शुभकामनाऐं.

हिमांशु । Himanshu said...

बहुत कम वक्त में हम भी दो हजारी हो गये हैं ।
आपको बधाई ।

संगीता पुरी said...

आपलोगों को बहुत बहुत बधाई ... अरे मैने भी ध्‍यान नहीं दिया था ... मेरा भी 7700 है ।

रवीन्द्र प्रभात said...

बधाई!

Anonymous said...

beta apane muh se apni badai.
kuch to shrm karo.

अनूप शुक्ल said...

सुन्दर! बधाई!

Neeraj Rohilla said...

बहुत बधाई हो मित्र,

Ratan Singh Shekhawat said...

आपलोगों को बहुत बहुत बधाई

Babli said...

मुझे आपका ब्लोग बहुत अच्छा लगा ! आप बहुत ही सुन्दर लिखते है ! मेरे ब्लोग मे आपका स्वागत है !